दिनांक : 2019/06/22 - 08:00 PM

स्थल : तेरापंथ भवन, ठाकुर परिसर, कांदिवली (पूर्व), मुंबई।



मुख्य प्रवाचक

श्री जितेन्द्र बी. शाह, निदेशक, ला.द.भारतीय संस्कृति विद्यामंदिर, अहमदाबाद


दिनांक : 26/06/2016 - 08:00 PM

स्थल : तेरापंथ भवन, ठाकुर परिसर, कांदिवली (पूर्व), मुंबई।



मुख्य प्रवाचक

श्री जितेन्द्र बी. शाह, निदेशक, ला.द.भारतीय संस्कृति विद्यामंदिर, अहमदाबाद

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्रीमान् बद्रीलाल स्वर्णकार, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, राजस्थान, बीकानेर द्वारा ‘‘राष्ट्रोत्थान में शिक्षित युवाओं की भूमिका’’ विषय पर आप द्वारा उद्बोधन प्रदान किया गया, जिसमें आपने शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि, ‘‘वर्तमान समय में शिक्षार्जन एक अत्यन्त महत्वपूर्ण क्रिया है। आज प्रत्येक समाज शिक्षा के प्रति जागरुक हो चुके हैं। शिक्षित युवा ही देश के विकास में सकारात्मक योगदान दे सकते हैं। युवा शिक्षित होगा तो देश विकसित होगा, रोजगार के नए अवसरों का सृजन होगा।’’ कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि श्रीमती निशि रानी (आर.टी.टी.एस.) सी.टी.ओ. भिवाड़ी, अलवर ने विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़कर अपने परिवारजन, समाज एवं देश को अग्रणी बनाने की प्रेरणा प्रदान की। आपने कार्यक्रम के आयोजकों की सराहना करते हुए कहा कि स्वर्णकार समाज उत्थान समिति द्वारा स्वर्णकार समाज के शैक्षिक उत्थान हेतु किया जा रहा प्रयास प्रशंसनीय है।


दिनांक : 21/06/2014 - 08:00 PM

स्थल : तेरापंथ भवन, ठाकुर परिसर, कांदिवली (पूर्व), मुंबई।



मुख्य प्रवाचक

श्री जितेन्द्र बी. शाह, निदेशक, ला.द.भारतीय संस्कृति विद्यामंदिर, अहमदाबाद

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्रीमान् बद्रीलाल स्वर्णकार, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, राजस्थान, बीकानेर द्वारा ‘‘राष्ट्रोत्थान में शिक्षित युवाओं की भूमिका’’ विषय पर आप द्वारा उद्बोधन प्रदान किया गया, जिसमें आपने शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि, ‘‘वर्तमान समय में शिक्षार्जन एक अत्यन्त महत्वपूर्ण क्रिया है। आज प्रत्येक समाज शिक्षा के प्रति जागरुक हो चुके हैं। शिक्षित युवा ही देश के विकास में सकारात्मक योगदान दे सकते हैं। युवा शिक्षित होगा तो देश विकसित होगा, रोजगार के नए अवसरों का सृजन होगा।’’ कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि श्रीमती निशि रानी (आर.टी.टी.एस.) सी.टी.ओ. भिवाड़ी, अलवर ने विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़कर अपने परिवारजन, समाज एवं देश को अग्रणी बनाने की प्रेरणा प्रदान की। आपने कार्यक्रम के आयोजकों की सराहना करते हुए कहा कि स्वर्णकार समाज उत्थान समिति द्वारा स्वर्णकार समाज के शैक्षिक उत्थान हेतु किया जा रहा प्रयास प्रशंसनीय है।


दिनांक : 29/06/2014 - 08:00 PM

स्थल : तेरापंथ भवन, ठाकुर परिसर, कांदिवली (पूर्व), मुंबई।



मुख्य प्रवाचक

श्री जितेन्द्र बी. शाह, निदेशक, ला.द.भारतीय संस्कृति विद्यामंदिर, अहमदाबाद

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्रीमान् बद्रीलाल स्वर्णकार, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, राजस्थान, बीकानेर द्वारा ‘‘राष्ट्रोत्थान में शिक्षित युवाओं की भूमिका’’ विषय पर आप द्वारा उद्बोधन प्रदान किया गया, जिसमें आपने शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि, ‘‘वर्तमान समय में शिक्षार्जन एक अत्यन्त महत्वपूर्ण क्रिया है। आज प्रत्येक समाज शिक्षा के प्रति जागरुक हो चुके हैं। शिक्षित युवा ही देश के विकास में सकारात्मक योगदान दे सकते हैं। युवा शिक्षित होगा तो देश विकसित होगा, रोजगार के नए अवसरों का सृजन होगा।’’ कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि श्रीमती निशि रानी (आर.टी.टी.एस.) सी.टी.ओ. भिवाड़ी, अलवर ने विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़कर अपने परिवारजन, समाज एवं देश को अग्रणी बनाने की प्रेरणा प्रदान की। आपने कार्यक्रम के आयोजकों की सराहना करते हुए कहा कि स्वर्णकार समाज उत्थान समिति द्वारा स्वर्णकार समाज के शैक्षिक उत्थान हेतु किया जा रहा प्रयास प्रशंसनीय है।


दिनांक : 30/06/2012 - 08:00 PM

स्थल : तेरापंथ भवन, ठाकुर परिसर, कांदिवली (पूर्व), मुंबई।



मुख्य प्रवाचक

श्री जितेन्द्र बी. शाह, निदेशक, ला.द.भारतीय संस्कृति विद्यामंदिर, अहमदाबाद

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्रीमान् बद्रीलाल स्वर्णकार, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, राजस्थान, बीकानेर द्वारा ‘‘राष्ट्रोत्थान में शिक्षित युवाओं की भूमिका’’ विषय पर आप द्वारा उद्बोधन प्रदान किया गया, जिसमें आपने शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि, ‘‘वर्तमान समय में शिक्षार्जन एक अत्यन्त महत्वपूर्ण क्रिया है। आज प्रत्येक समाज शिक्षा के प्रति जागरुक हो चुके हैं। शिक्षित युवा ही देश के विकास में सकारात्मक योगदान दे सकते हैं। युवा शिक्षित होगा तो देश विकसित होगा, रोजगार के नए अवसरों का सृजन होगा।’’ कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि श्रीमती निशि रानी (आर.टी.टी.एस.) सी.टी.ओ. भिवाड़ी, अलवर ने विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़कर अपने परिवारजन, समाज एवं देश को अग्रणी बनाने की प्रेरणा प्रदान की। आपने कार्यक्रम के आयोजकों की सराहना करते हुए कहा कि स्वर्णकार समाज उत्थान समिति द्वारा स्वर्णकार समाज के शैक्षिक उत्थान हेतु किया जा रहा प्रयास प्रशंसनीय है।


दिनांक : 05/09/2012 - 08:00 PM

स्थल : तेरापंथ भवन, ठाकुर परिसर, कांदिवली (पूर्व), मुंबई।



मुख्य प्रवाचक

श्री जितेन्द्र बी. शाह, निदेशक, ला.द.भारतीय संस्कृति विद्यामंदिर, अहमदाबाद

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्रीमान् बद्रीलाल स्वर्णकार, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, राजस्थान, बीकानेर द्वारा ‘‘राष्ट्रोत्थान में शिक्षित युवाओं की भूमिका’’ विषय पर आप द्वारा उद्बोधन प्रदान किया गया, जिसमें आपने शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि, ‘‘वर्तमान समय में शिक्षार्जन एक अत्यन्त महत्वपूर्ण क्रिया है। आज प्रत्येक समाज शिक्षा के प्रति जागरुक हो चुके हैं। शिक्षित युवा ही देश के विकास में सकारात्मक योगदान दे सकते हैं। युवा शिक्षित होगा तो देश विकसित होगा, रोजगार के नए अवसरों का सृजन होगा।’’ कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि श्रीमती निशि रानी (आर.टी.टी.एस.) सी.टी.ओ. भिवाड़ी, अलवर ने विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़कर अपने परिवारजन, समाज एवं देश को अग्रणी बनाने की प्रेरणा प्रदान की। आपने कार्यक्रम के आयोजकों की सराहना करते हुए कहा कि स्वर्णकार समाज उत्थान समिति द्वारा स्वर्णकार समाज के शैक्षिक उत्थान हेतु किया जा रहा प्रयास प्रशंसनीय है।


दिनांक : 22/05/2012 - 08:00 PM

स्थल : तेरापंथ भवन, ठाकुर परिसर, कांदिवली (पूर्व), मुंबई।



मुख्य प्रवाचक

श्री जितेन्द्र बी. शाह, निदेशक, ला.द.भारतीय संस्कृति विद्यामंदिर, अहमदाबाद

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्रीमान् बद्रीलाल स्वर्णकार, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, राजस्थान, बीकानेर द्वारा ‘‘राष्ट्रोत्थान में शिक्षित युवाओं की भूमिका’’ विषय पर आप द्वारा उद्बोधन प्रदान किया गया, जिसमें आपने शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि, ‘‘वर्तमान समय में शिक्षार्जन एक अत्यन्त महत्वपूर्ण क्रिया है। आज प्रत्येक समाज शिक्षा के प्रति जागरुक हो चुके हैं। शिक्षित युवा ही देश के विकास में सकारात्मक योगदान दे सकते हैं। युवा शिक्षित होगा तो देश विकसित होगा, रोजगार के नए अवसरों का सृजन होगा।’’ कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि श्रीमती निशि रानी (आर.टी.टी.एस.) सी.टी.ओ. भिवाड़ी, अलवर ने विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़कर अपने परिवारजन, समाज एवं देश को अग्रणी बनाने की प्रेरणा प्रदान की। आपने कार्यक्रम के आयोजकों की सराहना करते हुए कहा कि स्वर्णकार समाज उत्थान समिति द्वारा स्वर्णकार समाज के शैक्षिक उत्थान हेतु किया जा रहा प्रयास प्रशंसनीय है।